संघ मिशन

  • चर्तुविध संघ में ज्ञान, दर्शन, चारित्र एवं तप की आराधना
  • धार्मिक पाठशाला, शिविर, साहित्य-प्रकाशन, धार्मिक परीक्षाएं, छात्रवृत्ति इत्यादि के माध्यम से मूल्य आधारित शिक्षा व संस्कारयुक्त आचरण को प्रोत्साहन।
  • धार्मिक शिक्षण हेतु श्रद्धानिष्ठ, समर्पित व चरित्रवान शिक्षक तैयार करना।
  • स्वाध्यायी की गुणवत्ता को बढ़ाना, शिविर एवं पत्राचार के माध्यम से
  • विहार सेवा दल का प्रशिक्षण द्वारा सशक्तिकरण।
  • श्रमणोपासक के माध्यम से ज्ञानवृद्धि, नैतिक, बौद्धिक, आध्यात्मिक विकास, साथ ही जिनवाणी घर-घर तक पहुँचाना।
  • जरूरतमंद स्वधर्मी भाई-बहनों को आर्थिक सहयोग प्रदान करना।
  • चतुर्विध संघ के सुसंगठन में सहयोग।
  • संघ समृद्धि योजनाओं को बढ़ावा।
  • सामाजिक कुरीतियों, कुव्यसन, आडम्बर आदि के उन्मूलन हेतु एक उत्क्रान्ति – धर्मदेशना घर-घर तक पहुंचाकर उत्क्रान्ति परिवार के रूप में संकल्पित करवाना।
  • जीवदया के सेवा कार्यों को प्रवर्तन
  • इस प्रकार चहुंमुखी गतिविधियों व प्रकल्पों के माध्यम से संघ की उद्देश्य पूर्ति हेतु प्रयासरत रहना।