संघ द्वारा आचार्य श्री नानेश की पुण्यस्मृति में आचार्य श्री नानेश समता पुरस्कार की स्थापना की गई है प्रत्येक दूसरे वर्ष यह पुरस्कार एक ऐसे मनीषी को भेंट किया जाता है जिनके जीवन और आचरण में समता की स्पष्ट झलक मिलती है और समतामय जीवन के साथ समता समाज की रचना हेतु समर्पित है। इस पुरस्कार धर्म जाति का कोई बंधन नहीं है किसी भी धर्म-सम्प्रदाय का व्यक्ति अगर इस पुरस्कार की पात्रता रखता है तो उसे अत्यंत हर्षपूर्वक यह पुरस्कार प्रदान किया जाता है।  इस पुरस्कार के अन्तर्गत 2 लाख रूपये की नगद राशि, अभिनन्दन पत्र भेंट कर उन्हें समता मनीषी की उपाधि से अलंकृत किया जाता है।

आचार्य श्री नानेश समता पुरस्कार 2017

श्री अखिल भारतवर्षीय साधुमार्गी जैन संघ द्वारा  जिनके जीवन और आचरण में समता की स्पष्ट झलक मिलती है  ‘आचार्य श्री नानेश समता पुरस्कार‘ हेतु चयन समिति ने समता  मनीषी श्री ओम प्रकाश जी माथुर (सांसद,  उपाध्यक्ष बी. जे. पी.  ) का चयन किया है। इन्हें यह पुरस्कार 24 जनवरी  2018 को इंदौर  में आयोजित पुरस्कार समारोह में प्रदान किया गया । सम्पूर्ण साधुमार्गी परिवार की ओर से सांसद श्री ओम प्रकाश जी माथुर को हार्दिक बधाई एवं अभिनंदन।

अभी तक निम्न महानुभावों को आचार्य श्री नानेश समता पुरस्कार प्रदान किया जा चुका है:-

  • 2001 –  श्री गुमानमल जी चौरडिया      (जयपुर)
  • 2004 – श्री सोहनलाल जी सिपाणी     (बैगलौर)
  • 2006 – श्री नाना देशमुख जी              (चित्रकूट)
  • 2008 – श्री सज्जनसिंह जी मेहता        (बड़ी सादड़ी)
  • 2010 –  श्री दीपचन्द जी गार्डी             (मुम्बई)
  • 2012 –  प्रो. श्री सागरमल जी जैन       (साजा)
  • 2012 –  श्री हरिसिंह जी रांका              (मुम्बई)
  • 2015 –  समता मनीषी श्री उमरावमल जी बंब      (टोंक)
  • 2017 –    श्री ओमप्रकाश  जी माथुर
विविध सुचना