समता महिला सेवा केंद्र : विगत तीन दशकों से इस सेवा केंद्र के तत्वावधान में अनेकों महिलाओं को रोजगार उपलब्ध कराकर कई प्रकार / आकर के पापड़ तथा भिन्न भिन्न मसालों का उत्पादन किया जाता है । उत्पाद की गुणवत्ता व शुद्धता क्रेताओं व ग्राहकों द्वारा मान्य व अभिस्वीकृत है । जरूरतमंद महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने हेतु एवं उन्हें आर्थिक रूप से स्वतंत्र करने की दिशा में एक ठोस चरण स्वरुप यह यह प्रकल्प आरम्भ हुआ था । महिलाओं को विविध व्यवसायों में रोजगारोन्मुख प्रशिक्षण देकर उन्हें स्वावलंबी होने की , व सम्मानपूर्वक जीवन जीने की , उत्प्रेरणा प्रदान की जाती है ।

सेवा केंद्र के व्यवसाय में वृद्धी हेतु व उत्पाद के विविधिकरण हेतु सारभूत व सुनियोजित उपक्रम प्रस्तावित हैं तथा विपणन ( Marketing ) हेतू क्षेत्रवार Dealer / Retailer की नियुक्ति भी विचारधीन है ।

श्री आदिनाथ पशुरक्षण संसथान , कानोड़ : भगवन महावीर की अमृतवाणी ‘ जिओ और जीने दो ‘ को आत्मसात करते हुए संघ द्वारा अनेक गौशालाओं एवं जीवदय केन्द्रों को सहायता दी जाती है । कानोड़ स्थ्ति श्री आदिनाथ पशुरक्षण संसथान नामक गौशाला का संचालन संघ द्वारा किया जा रहा है । इस गौशाला में वर्तमान में 125 से अधिक गायें है ।