आज का युग द्रुत गति से आगे बढ रहा है। विज्ञान की प्रगति ने संपूर्ण राष्ट्र को एक नई ऊर्जा प्रदान की है। विज्ञान के तीव्र विकास के कारण उच्च शिक्षा में व्यापक परिवर्तन हुआ है। हमारे समाज के बालक उच्च अध्ययन हेतु अपने शहर से बाहर जाते है तो उन्हें छात्रावास की समस्या का सबसे पहले सामाना करना पडता है इसी समस्या को ध्यान में रखते हुए शांत क्रांति के जन्मदाता स्व. आचार्यश्री गणेशीलालजी म.सा. की पुण्यस्मृति में उदयपुर में विशाल भूखण्ड पर श्री गणेश जैन छात्रावास की स्थापना संघ का उल्लेखनीय कार्य है। उदयपुर के सुंदरवास में स्थित भव्य, रमणीय अत्याधुनिक सुविधाओं से युक्त भवन में संचालित इस छात्रावास में वर्तमान में लगभग 103 छात्र अध्ययनरत है। यह सभी छात्र एम.बी.ए., सी.ए., बी.ई., फार्मासी तथा उच्च शिक्षा हेतु अध्ययनरत है। छात्रावास में धार्मिक शिक्षा का अध्ययन भी करवाया जाता है। वर्तमान में छात्रावास में सामायिक हॉल का भव्य निर्माण करवाया गया है।

६० कमरें

  • तीन आवास के २० एवं एकाकी आवास के ४० कमरे

पुस्तकालय

  • जैन साहित्य सहित विभिन्न विषयों पर ख्यतनाम पुस्तकों का व्रह्द संग्रह

भोजनालय

  • छात्रों के लिए घर जैसे खाने की सुविधा

सहज पहुँच

  • उदयपुर शहर के केंद्र में स्तिथ
श्री गणेश जैन छात्रावास वेबसाइट